Summarize the character of Rana Pratap in your own word as you know from the play ‘Rana Pratap’.

0
55
  • (राणा प्रताप नाटक को अपने शब्दों में संक्षेप में लिखिए जैसाकि आपने राणा प्रताप नाटक से जाना है।)

Ans. Rana Pratap and his family members and some of his followers has taken shelter in the plateau of Aravalli. He is defeated by Akbar. He is a leading a miserable life here. Even they are not getting proper food stuff. Rana Pratap is very disappointed after losing Mewar. His son Amar wants to fight against the Mughals. They don’t have enough warriors or weapons. All of a sudden Bhama Shah, his old chief minister approached him and he helped him with men and gold coins.

राणा प्रताप और उनके परिवार के सदस्य और उनके कुछ समर्थक अरावली के पठार में शरण लिए हुए है। मुगल सम्राट अकबर के द्वारा ये पराजित हुए हैं। वे बहुत दरिद्रता का जीवन जी रहे हैं। उन्हें भोजन आदि भी नहीं मिल रहा है। मेवाड़ हारने के पश्चात् महाराणा प्रताप बहुत निराश है। उनका पुत्र अमर मुगलों के खिलाफ लड़ना चाहता है। उनके पास पर्याप्त सैनिक और सैन्य सामग्री नहीं है। अचानक उनके मुख्यमंत्री भामाशाह सैनिकों और स्वर्ण मुद्रा के साथ राणा की सहायता करने पहुँच जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here